Sunday, September 2, 2018

Happy Teachers Day

शिक्षक दिवस कि सुभकामनाएँ,
शिक्षकों के सम्मान में मनाया जाने वाला भारत का प्रमुख त्यौहार है, गुरु शिष्य परंपरा भारत के संस्कृति का एक अहम् और पवित्र रिश्ता है, गुरु एक शिष्य के लिए इश्वर के समान पूज्यनीय होते हैं, शिक्षक एक माली के सामान है जो एक बगीचे को अलग अलग रूप रंग के फूलों से सजाते है जो विद्यार्थियों को कांटे भरे रास्ते में हंसकर चलने के लिए प्रेरित करते है, एक शिक्षक ही है जो बच्चों को सही रास्ते पर चलने के लिए प्रेरित करते है, शिक्षक ही हमें जीवन जीने का सही सलीका सिखाते हैं, एक व्यक्ति के जीवन में सबसे ज्यादा महत्व शिक्षक का होता है क्यूंकि शिक्षक ही अपने विद्यार्थी के लिए ज्ञान का सागर होते हैं, देश में रहने वाले नागरिको के भविष्य निर्माण के द्वारा शिक्षक राष्ट्र निर्माण का कार्य करते हैं,


🕉🌻🌻🌻🌻🌻🌻🕉🌻🌻🌻🌻🌻🌻🕉

नमस्कार दोस्तों, इस आर्टिकल में सुंदर डिज़ाइन वाले ग्रीटिंग्स को सिर्फ आपके लिए डाल रहा हूँ, इस त्योहार को क्यों मनाते हैं संक्षेप में इस लेख से समझ सकते हैं तथा अपने दोस्तों और परिवार के सभी सदस्यों को बड़ी ही आसानी से ग्रीटिंग्स में अपना नाम लिखकर सेंड कर सकते हैं,  ग्रीटिंग्स भेजने के लिए Share बटन पर क्लिक कीजिए,

अपने पसंद वाले त्यौहार जैसे शुभ दिपावली, होली, नवरात्र, स्वतंत्रता दिवस, रक्षाबंधन, ईद मुबारक, श्रीकृष्ण जन्माष्टमी, शुभ प्रात और  शुभ शंध्या आदी जैसे त्योहारों के सुंदर ग्रीटिंग्स अपने दोस्तों को शेयर करने के लिए निचे ग्रीन कलर के festival99.epizy.com पर क्लिक किजिए,

All Festival Link
 Festival99.epizy.com 


शिक्षक दिवस कब और क्यूँ मनाया जाता है ?

भारत के महान व्यक्तित्व डॉ सर्वपल्ली राधाकृष्णन के जन्मदिन के शुभ अवसर पर शिक्षक दिवस 5 सितम्बर को मनाया जाता है, उनका जन्म 5 सितम्बर 1888 को हुआ था और वे 1952 से 1962 तक भारत के उप राष्ट्रपति रहे उसके बाद वे भारत के द्वितीय राष्ट्रपति बने, उन्हें 1954 में भारत रत्न से सम्मानित भी किया गया था, 17 अप्रैल 1975 को वे हमारे बीच नही रहे, डॉ सर्वपल्ली राधाकृष्णन शिक्षा के प्रति अत्यधिक समर्पित थे, वे एक महान दार्शनिक के साथ एक अच्छे शिक्षक भी थे, उन्हें अध्यापन से बहुत प्रेम था | एक आदर्श शिक्षक के सभी गुण उनमे विद्यमान थे | जब वे भारत के राष्ट्रपति बने तब विद्यार्थियों ने उनके जन्म दिवस के अवसर पर उत्सव मनाने की आग्रह की तब उन्होंने अपने जन्मदिन पर शिक्षकों को सम्मान देने का प्रस्ताव रखा और अपने जन्मदिन के अवसर पर शिक्षकों को सम्मान देने का ऐलान किया तभी से हर वर्ष 5 सितम्बर को शिक्षकों के सम्मान में शिक्षक दिवस मनाया जाता हैं |
शिक्षक दिवस कैसे मनाया जाता है ?


शिक्षक दिवस के दिन भारत के सभी विद्यालयों में डॉ सर्वपल्ली राधाकृष्णन के जन्म के सुभावसर पर उनका स्मरण किया जाता है, विद्यालयों में उत्सव होती है, शिक्षकों का सम्मानित किया जाता है, और  हर्शोल्लाश के साथ उत्साह मनाया जाता है, बच्चे व शिक्षक दोनों ही सांस्कृतिक गतिविधियों में भाग लेते हैं, बच्चे विभिन्न प्रकार से सांस्कृतिक कार्यक्रम करते हैं | छात्र शिक्षकों को विभिन्न प्रकार के उपहार देकर सम्मानित करते हैं, स्कूल और कॉलेज में पुरे दिन उत्सव सा माहौल रहता है, और सभी विद्यार्थि एक दुसरे को सुभकामनाऐं और मुबारकबाद देते हैं अगर आपको भी अपने मित्रों को हैपी टीचर्स डे की डिजिटल ग्रिटीन्स भेजना है तो Share बटन पर क्लिक कीजिये !!




0 your comments:

Post a Comment